Monday, January 30, 2023
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडअल्मोड़ा : एसएसजे विश्वविद्यालय महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण शिक्षा परिषद् भारत सरकार...

अल्मोड़ा : एसएसजे विश्वविद्यालय महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण शिक्षा परिषद् भारत सरकार की ओर सम्मानित

अल्मोड़ा ::- एसएसजे विश्वविद्यालय को अपने स्वच्छता एक्शन प्लान, सफल सेनिटाईजेशन, स्वछता बनाये रखने, अपशिष्ट पदार्थों के ठोस प्रबंधन, जल संग्रहण, हरित प्रबंधन आदि को लेकर उल्लेखनीय कार्य करने के लिए सम्मानित किया गया और साथ ही भारत सरकार द्वारा डिस्ट्रिक ग्रीन चैंपियन सर्टिफिकेट दिया गया।

पुरस्कृत किये जाने पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.नरेंद्र सिंह भंडारी ने कहा कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण शिक्षा परिषद् भारत सरकार की ओर से सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय को सम्मानित किए जाने से हम सभी गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। इस ओर विश्वविद्यालय में पर्यावरण संरक्षण, जल संवर्धन आदि के लिए क्लीन कैम्पस ग्रीन कैम्पस अभियान, मीत पीपल अभियान, नमामि गंगे अभियानों आदि का संचालन कर रहे हैं। बहुत बेहतर तरीके से हमने पर्यावरण संरक्षण और जल संवर्धन के लिए समाज को जोड़ा है। समाज के बीच जाकर जागृति उत्पन्न की है। हम नौला का संरक्षण कर रहे हैं। आज हमसे कई सामाजिक संस्थाएं/संस्थान जुड़कर कार्य करने लगे हैं। जिसका परिणाम है कि यह विश्वविद्यालय राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने में सफल हुआ है। उन्होंने सभी संकायों/विभागों के सभी अधिकारियों, शिक्षकों, कर्मियों एवं छात्रों के सहयोग एवं प्रयासों के लिए बधाई दी।

कुलपति प्रो.भंडारी ने कहा कि ग्रीन ऑडिट एवं हरेला पीठ के माध्यम से विश्वविद्यालय को ग्रीन कैम्पस बनाने के लिए तीव्रता से कार्य कर रहे हैं। संस्कृति संरक्षण के लिए भी हरेला पीठ कार्य कर रही है। उन्होंने आगे भी इस दिशा में उल्लेखनीय कार्य करने की बात कही।

अधिष्ठाता प्रशासन प्रोफेसर प्रवीण सिंह बिष्ट ने बताया कि इस अवार्ड के लिए भारतभर के 700 जिलों के 800 उच्च शिक्षा संस्थानों को इस महत्वपूर्ण सम्मान के लिए चयनित किया गया है। उत्तराखंड के 13 संस्थानों को इस सम्मान से सम्मानित किया गया। पतंजलि विश्वविद्यालय में आयोजित हुए एक कार्यक्रम में सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय को प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया गया। विश्वविद्यालय की तरफ से डॉ.तिलक जोशी ने प्रमाणपत्र ग्रहण किया। उन्होंने कहा कि पुरस्कृत होने पर विश्वविद्यालय के प्रो.जगत सिंह बिष्ट (शोध एवं प्रसार), प्रो.सुशील कुमार जोशी (परीक्षा नियंत्रक), विशेष कार्याधिकारी डॉ.देवेंद्र सिंह बिष्ट, प्रो. एससी जोशी (अधिष्ठाता शैक्षिक), प्रो. पीएस बिष्ट (अधिष्ठाता प्रशासन),प्रो.इला साह (अधिष्ठाता छात्र कल्याण), प्रो. केसी जोशी (अधिष्ठाता वित्त/बजट), प्रो. जीसी साह (अधिष्ठाता परीक्षा), प्रो. अनिल यादव (समन्वयक, ग्रीन ऑडिट),प्रो.जया उप्रेती (संकायाध्यक्ष,विज्ञान), प्रो पुष्पा अवस्थी (संकायाध्यक्ष,कला), प्रो. एके पंत (संकायाध्यक्ष,विधि), प्रो.सोनू द्विवेदी (संकायाध्यक्ष,दृश्यकला), डॉ. मुकेश सामंत (कुलानुशासक), डॉ.नंदन सिंह बिष्ट (निदेशक, एनआरडीएमएस) सहित कई अधिकारियों ने हर्ष जताया।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें