Monday, January 30, 2023
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडबागेश्वर : जिलाधिकारी ने मासिक स्टॉफ की समीक्षा बैठक लेते हुए दिए...

बागेश्वर : जिलाधिकारी ने मासिक स्टॉफ की समीक्षा बैठक लेते हुए दिए आवश्यक निर्देश

बागेश्वर :::- अधिकारी बैठकों में पूर्ण जानकारी के साथ प्रतिभाग कर बैठकों में दिए गए निर्देशों की अनुपालन आंख्या भी समय से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें, यह निर्देश जिलाधिकारी रीना जोशी ने मासिक स्टॉफ की समीक्षा बैठक लेते हुए दिए।

जिलाधिकारी ने समीक्षा बैठक में कानून व्यवस्था, राजस्व वसूली, वाद निस्तारण की विस्तृत समीक्षा कर राजस्व अधिकारियों को निर्देश दियें कि वे वादों का त्वरित निस्तारण करें तथा पुराने वादों में जल्द डेट लगाकर प्राथमिकता से निस्तारण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि राजस्व वसूली पर विशेष ध्यान दें तथा जो आरसी प्राप्त हो रही है उनकी त्वरित वसूली की जाए, ताकि वर्ष के अंत में वसूली लक्ष्य को आसानी से प्राप्त किया जा सकें। उन्होंने पुराने व बडे बकायेदारों से सख्ती से वसूली करने के भी निर्देश दिए।


जिलाधिकारी ने कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कहा कि जनपद में शांति व्यवस्था कायम रखने व अपराधों पर नियंत्रण रखने के लिए सक्रियता से कार्य करें व वादों का त्वरित निस्तारण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने न्यायालयों में लंबित वादों की समीक्षा करते हुए शासकीय अधिवक्ताओं को निर्देश दियें कि वे वादों में शीघ्रता से तारीख लगवाकर गवाही करायें व वादों का निस्तारण करें। जिलाधिकारी ने परगना स्तर पर वादों की समीक्षा करते हुए पुराने वादों को शीघ्रता से निपटाने के निर्देश दियें।

जिलाधिकारी ने आबकारी अधिकारी को निर्देश दियें कि वे मदिरा की दुकानों के बाहर रेट लिस्ट अनिवार्य रूप से लगाना सुनिश्चित करें, तथा ओवर रेट कर मदिरा बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए मदिरा की दुकानों पर नियमित निरीक्षण करें तथा उनके स्टॉक व सेल पंजिकाओं का अवलोकन भी करें, साथ ही अवैध शराब बिक्री किसी भी दशा में न हो, होटल, ढाबों व रैस्टोरेंटों में निरंतर प्रवर्तन की कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने एआरटीओ को निर्देश दियें कि वे चैकिंग अभियान पर विशेष ध्यान देते हुए दुर्घटना रोकने के लिए नियमित संयुक्त अभियान चलायें तथा ओवर स्पींड, ओवर लोडिंग तथा नशे में वाहन चलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें व अर्थदंड भी लगायें, तथा रात्रि के समय भी सघन चैकिंग अभियान चलाया जाए। उन्होंने यात्री वाहनों की फिटनेस की नियमित जांच करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने आपदा प्रबंधन व पुनर्वास आदि से संबंधित प्रकरणों की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

जनपद में जीएसटी संग्रह की समीक्षा के दौरान उन्होंने जीएसटी संग्रह बढाते हुए जनपद के सभी व्यापारियों, होटल व रैस्टोरेंट को जीएसटी में पंजीकृत कराने के निर्देश राज्य कर को दिए, और चेतावनी दी कि कोई भी व्यापारी, होटल व रैस्टोरेंट अपंजीकृत रहकर राजस्व हानि होती है तो विभागीय अधिकारी के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई अमल में लायी जायेगी। नगर निकायों की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने शत-प्रतिशत भवन कर वसूली करने के निर्देश देने के साथ ही पॉलीथीन प्रतिबंध अभियान के लिए निरन्तर संयुक्त चैकिंग अभियान चालने को कहा। उन्होंने निकायों को साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने व नदी-नालों में कूडा फेंकने वालों पर पैनी नजर रखते हु ऐसे व्यक्तियों को चिन्हित कर अर्थदंड लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने पूर्ति विभाग की समीक्षा करते हुए समय से राशन वितरण करने तथा नियमित राशन की दुकानों का निरीक्षण करने के निर्देश दियें। उन्होंने राशन की दुाकनों, पेट्रोल पंपों के साथ ही होटल, रेस्टोरेंटों में भी छापे मारी कर घरेलू सिलिंडर के उपयोग रोकने के निर्देश दियें। खाद्य सुरक्षा की समीक्षा के दौरान उन्होने कहा कि त्योहारी सीजन में दूध, पनीर, मिठाई आदि से संबंधित दुकानों से अधिक से अधिक सैंपल लिये जाए तथा एक्सपायरी डेट की मिठाई एवं बासी खाद्य पदार्थो की बिक्री पर रोक लगाने को कहा।

जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री कार्यालय से प्राप्त संदर्भो सहित सेवा का अधिकार को ससमय निस्तारण करने के साथ ही राजस्व परिषद व महालेखाकार आडिट आपत्तियों का भी त्वरित निष्पादन करने के निर्देश दियें।



सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें