Tuesday, February 7, 2023
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडबागेश्वर :: डीएम ने समेकित खेती पर फोकस करने के दिए निर्देश

बागेश्वर :: डीएम ने समेकित खेती पर फोकस करने के दिए निर्देश

बागेश्वर ::- जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने रेखीय विभागो की समीक्षा बैठक लेते हुए समेकित खेती पर फोकस करने के निर्देश दिए। कहा कि रेखीय विभागों द्वारा जहां समेकित खेती की जा रही है उसका निरीक्षण कर कार्ययोजना प्रस्तुत की जाए। उन्होंने कहा जन समस्याओं के लिए ग्राम पंचायतों में रात्रि चौपाल लगाई जायेगी ।

जिलाधिकारी द्वारा गुरूवार को कलेक्टे्रट में कृषि, उद्यान, पशुपालन, मत्स्य, ग्राम्य विकास विभाग, रेशम, भेषज आदि विभागों के कार्यो को लेकर समीक्षा की गई, उन्होंने विभागों द्वारा चलाई जा रही योजनाओं पर विस्तार से जानकारियां ली।

जिलाधिकारी ने कहा कि किसी क्षेत्र विशेष में होने वाली फसल पर काम किया जाए, जिससे उस विशेष क्षेत्र को उस फसल के लिए उपयोगी बनाया जा सके तथा बडे पैमाने पर उस फसल का उत्पादन के साथ ही एलाइड सेक्टर में कार्य करें । उन्होंने कहा कि सरकार की मंशा के अनुरूप किसानों की आय को किस प्रकार बढाया जा सकता है इस दिशा में विभागों को एक साथ कार्य करने की जरूरत है। उन्होंने मस्त्य विभाग को ट्राउड मछली उत्पादन बढाने के साथ ही मार्केट तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने उद्यान विभाग को कीवी व सेब के उत्पादन को बढावा देते हुए इसे कलस्टर के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कृषि व उद्यान अधिकारी को टॉप 100 किसानों व मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को टॉप 100 पशुपालको की सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए व पशुओं की दवा व उन्हें टीकाकरण समय से कराने के निर्देश दिए। उन्होंने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को गोट वैली विकसित करने के साथ ही मार्केटिंग पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आजीविका संवर्द्धन कार्यो को प्राथमिकता से किया जाए। जिलाधिकारी ने डेयरी विभाग को मिल्क प्रोडेक्शन बढाने के निर्देश देते हुए लोगो को इस क्षेत्र में कार्य करने के लिए प्रेरित करने को कहा।

जिलाधिकारी ने कहा कि मनेरगा के कार्यो को समय से पूर्ण किया जाए व कार्य पूर्ण होते ही सोशल आडिट भी किया जाए तथा कार्यो की जीओ टैगिंग भी साथ-साथ करने के निर्देश दिए। उन्होंने गरूड़ गंगा पुनर्जनन के तहत रिचार्ज जोन में किए जा रहे कार्यो की नियमित मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए, ताकि अच्छा परिणाम सामने आ सके।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी संजय सिंह, जिला विकास अधिकारी संगीता आर्या, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. आर चन्द्रा, जिला उद्यान अधिकारी आरके सिंह, मत्स्य अधिकारी मनोज मियान, समाज कल्याण अधिकारी हेम तिवारी सहित भेषज, रेशम व दुग्ध विभाग के अधिकारी मौजूद थे।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें