Friday, January 27, 2023
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडबागेश्वर : लैंगिक भेदभाव पर सामुदायिक नेतृत्व में राष्ट्रीय अभियान पर गोष्ठी...

बागेश्वर : लैंगिक भेदभाव पर सामुदायिक नेतृत्व में राष्ट्रीय अभियान पर गोष्ठी का आयोजन

बागेश्वर::- जनपद में लैंगिक भेदभाव पर सामुदायिक नेतृत्व में राष्ट्रीय अभियान का शुभारंभ मुख्य विकास अधिकारी संजय सिंह की अध्यक्षता में गोष्ठी का आयोजन किया गया। मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में विभागीय अधिकारी समेत एसएचजी महिलाएं, अधिवक्ता आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्तर पर आरंभ हुए अभियान को प्रोजेक्टर के माध्यम से लाइव दिखाया गया। अभियान 25 नवंबर से 23 दिसंबर तक आयोजित होगा।

विकास भवन सभागार में आयोजित हुई गोष्ठी में समानता एवं लिंग आधारित हिंसा पर विचार रखते हुए मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि समाज में शैक्षिक, आर्थिक स्तर पर वृद्धि होने के बावजूद लैंगिक भेदभाव वर्तमान में चुनौती बना हुआ है। अभी भी समाज में बाल विवाह, दहेज प्रथा, मानसिक-शारीरिक उत्पीड़न जैसे प्रकरण सामने आते हैं। उन्होने जेण्डर अभियान के तहत इन मुद्दों पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए।

जनपद में कार्यक्रम की नोडल अधिकारी व जिला विकास अधिकारी संगीता आर्या द्वारा अभियान के उद्देश्य व इसके महत्व के बारे में बताया। उन्होने उम्मीद जताई कि सभी विभाग व समाजिक संस्थाओं से जुड़े लोग इसकी सफलता में अपना योगदान देंगे। इस दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी डा. सुनीता टम्टा ने बताया कि जनपद में लैंगिक जागरूकता के लिए विशेष ध्यान दिया जा रहा है। वर्तमान में जनपद प्रति 1000 पुरूषों में 951 महिलाएं हैं। कहा कि विभिन्न कार्यक्रमों के जरिये इसमें सुधार के प्रयास किए जा रहे हैं। स्वंय सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं ने भी इस दौरान अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि महिलाओं को इसकी शुरूआत अपने घर से करने की आवश्यकता हैं। वन स्टॉप सेंटर की प्रबंधक सष्टी काण्डपाल ने सेंटर से जुड़ी जानकारी साझा की। अधिवक्ता अंजू पाण्डे ने लैंगिक भेदभाव की रोकथाम को बने कानूनों की जानकारी दी। समाज कल्याण विभाग के सहायक प्रोबेशन अधिकारी संतोष जोशी ने विभागीय योजनाओं की जानकारी देते हुए गोष्ठी में विचार रखे। कार्यक्रम में अपर मुख्यपशुचिकित्साधिकारी डा. कमल पंत, जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास विभाग अनुलेखा बिष्ट, डीपीएम रीप मो. आरिफ खां समेत एसएचजी महिलाओं ने विचार रखे।

कार्यक्रम का संचालन जिला थिमेटिक विशेषज्ञ नीरज कुमार जोशी ने किया। आयोजन को सफल बनाने में दीपक वर्मा, प्रकाश चन्द्र लोहनी, विक्रम सिंह, जीत सिंह नैनवाल आदि ने सहयोग दिया।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें