Friday, January 27, 2023
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडअल्मोड़ा : वीरा संस्था के सहयोग से शोधार्थी आशीष, राहुल व मयंक...

अल्मोड़ा : वीरा संस्था के सहयोग से शोधार्थी आशीष, राहुल व मयंक ने राजकीय महिला पॉलिटेक्निक में पीरियड्स को लेकर चलाया जागरूकता व सेनिटरी पैड्स वितरण अभियान

अल्मोड़ा:::- राजकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज अल्मोडा में वीरा संस्था द्वारा छात्राओं को मासिक धर्म विषय पर जागरूकता अभियान और सैनिटरी पैड्स वितरित किए गए। कार्यक्रम में प्रो.इला साह के निर्देशन में शोध कर रहे शोद्यार्थी आशीष पन्त एवं वीरा संस्था से राहुल जोशी व विद्यार्थी मयंक पन्त ने छात्राओं को पीरियड्स के प्रति जागरूक करने के लिए जागरूकता अभियान में प्रतिभाग किया। इस दौरान उन्होंने छात्राओं को माहवारी के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान कराई। पॉलीटेक्निक कॉलेज की छात्राओं को सबसे पहले आशीष के शोध कार्य पर पहाड़ एक्सप्रेस के द्वारा बनाई गई डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म दिखाकर पीरियड्स के दौरान ग्रामीण महिलाओं के संघर्ष को दिखाया गया। इसके उपरांत छात्राओं को आशीष और राहुल ने वीरा फाउंडेशन की सहायता से सैनिटरी नैपकिन उपलब्ध करवाए। इस दौरान छात्राओं में विशेष उत्साह देखने को मिला।

आशीष ने बताया की आजादी के इतने वर्ष बाद भी माहवारी को लेकर कई संकुचित धारणाएं हैं जिन्हें तोड़ा जाना वर्तमान समय में अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने बताया कि मासिक धर्म के दौरान कपड़े का इस्तेमाल करना महिलाओं के लिए स्वास्थ्य की दृष्टि से बिल्कुल भी उचित नहीं है इसलिए उनका मकसद है कि वो हर महिला तक सेनिटरी नैपकिन पहुंचाएं इसके लिए उनकी टीम एक रोड मैप तैयार भी कर रहे हैं और इसे जल्द ही जमीन पर उतारने के लिए प्रयास करेगी।

बताया कि वो लगातार 3 सालों से इस विषय को लेकर कार्य कर रहें हैं विभिन्न संस्थाओं में जाकर लोगों को जागरूक करने के लिए प्रयासरत हैं पर इस दौरान उन्हें सरकार या किसी भी सरकारी संस्था द्वारा कोई मदद प्रदान नहीं की गयी।


आशीष के शोध कार्य पर बनी डॉक्यूमेंट्री को निर्मित करने वाले पत्रकारिता के छात्र व पहाड़ एक्सप्रेस के संपादक राहुल और मयंक बतातें हैं कि माहवारी के विषय में समाज में चर्चा होना निंतान्त आवश्यक है इसके लिए उनकी पूरी टीम निरन्तर विभिन्न संस्थाओं से संपर्क कर महिलाओं को जागरूक करने के लिए प्रयासरत रहती है।

राहुल ने बताया कि उनकी छोटी सी टीम में वो कार्यों का विभाजन कर लेतें हैं ताकि वो कार्यक्रम से संबंधित आवश्यक चीजें एकत्रित कर पाएं। उन्होंने बताया कि वो वर्तमान में वीरा एनजीओ में कार्यरत हैं जहां से उन्होंने छात्राओं को सैनिटरी पैड्स उपलब्ध करवाने हेतु प्रयास किया।

राजकीय महिला पॉलीटेक्निक कॉलेज में हुए कार्यक्रम में मयंक पंत ने बताया कि वो जल्द ही एक संस्था निर्मित करेंगे जिसके माध्यम से वो पूरे उत्तराखंड और देशभर में काम करने का प्रयास करेंगे। उनका कहना है कि महिलाओं को सिर्फ एक बार सेनिटरी पैड्स उपलब्ध करवाना उनका लक्ष्य नहीं है बल्कि वो नियमित अंतराल में महिलाओं तक सैनिटरी नैपकिन पहुंचाना चाहते हैं जिसके लिए उनकी टीम आने वाले समय में खुद ही इसके पैड्स के निर्माण पर भी विचार कर रही है। उन्होंने ये भी बताया कि सेनिटरी पैड्स बहुत ही बुनियादी आवश्यकता है इसलिये सरकार को इसमें से जीएसटी हटाकर इसे लक्जरी आइटम से बाहर रखना चाहिए।

कार्यक्रम में मौजूद महिला पॉलीटेक्निक कॉलेज की प्रधानाचार्या ने कहा कि आशीष एवं उनकी टीम द्वारा किया गया कार्य सराहनीय है इससे हमारे कॉलेज की छात्राओं को कई महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त हुई हैं। आशीष के शोध कार्य पर पहाड़ एक्सप्रेस द्वारा बनी डॉक्यूमेंट्री में जिन बातों का जिक्र किया गया है वो हमने व्यक्तिगत जीवन में भी महसूस किया है। जब हमारी माँ हमें रसोई, मंदिर में जाने नहीं देती थी परंतु हमने उन बातों का विरोध किया। उन्होंने कहा कि उन्होंने भी अपने कॉलेज में सैनिटरी डिस्पोजेबल मशीन लगाई हुई है और उनका प्रयास है की जल्द ही सैनिटरी वैंडिंग मशीन भी कॉलेज में लगाई जाए।

कार्यक्रम में उपस्थिति महिला पॉलीटेक्निक की छात्रा अंजली ने कहा मैंने आज तक कभी किसी पुरुष को इस बारे में बात करते नहीं देखा पर आज आशीष द्वारा जिस प्रकार इन बातों को बताया गया वो बहुत ही शानदार है हमें ये बातें सिर्फ हमारी मां द्वारा बताई गई कभी किसी पुरुष टीचर ने भी इस बारे में नहीं बताया पर आज जब एक लड़का इस बारे में बात कर रहा है तो इससे बदलाव जरुर आएगा। फाइनल ईयर की छात्रा लता ने अपने पहले पीरियड के दौरान उन्हें हुई परेशानियों का भी इस दौरान जिक्र किया और कहा की आज भी वो अपनी मां से तक खुल कर इस बारे में बात नहीं कर पाई हैं। इसके अलावा भी कई छात्राओं ने अपने अनुभवों को साझा किया।

कार्यक्रम का संचालन शिक्षिका दीपा मेहरा द्वारा किया गया। कार्यक्रम में महिला पॉलीटेक्निक कॉलेज की प्राचार्य रेखा असवाल सहित शिक्षक राकेश सिंह, डॉ. शुभा पोखरिया, सचिन जोशी, शालिनी शर्मा, दीपा मेहरा, विवेकानंद दुर्गापाल, आशीष पंत, मयंक पंत, राहुल जोशी, प्रतिभा आर्या, आशुतोष शरण सिन्हा, ललित तिवारी, रेखा जोशी, मदन नेगी सहित सभी शिक्षक और छात्राएं मौजूद रहे ।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें