Tuesday, February 7, 2023
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडअल्मोड़ा : राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष ज्योति साह मिश्रा ने राजकीय...

अल्मोड़ा : राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष ज्योति साह मिश्रा ने राजकीय संरक्षण गृह महिला, राजकीय शिशु बाल निकेतन, बाल गृह किशोरी का किया औचक निरीक्षण, मृतक जगदीश की पत्नी से की मुलाक़ात

अल्मोड़ा:::- राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष ज्योति साह मिश्रा ने राजकीय संरक्षण गृह महिला, राजकीय शिशु बाल निकेतन, बाल गृह किशोरी का औचक निरीक्षण किया। मौके पर राजकीय संरक्षण गृह महिला में रह रही मृतक जगदीश चंद्र की पत्नी गीता उर्फ गुड्डी से मुलाकात कर समस्या सुनी। उन्होंने कहा कि पीड़िता को उचित शिक्षा देकर पुनर्वासित किया जाएगा।

शुक्रवार को राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष ज्योति साह मिश्रा ने सबसे पहले बख स्थित किशोरी गृह का निरीक्षण किया वहां साफ-सफाई की व्यवस्था देखी कार्मिकों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। बच्चों से बातचीत कर उनकी समस्याएं सुनी। इसके बाद नारी निकेतन में मृतक जगदीश चंद्र की पत्नी गीता उर्फ गुड्डी से मुलाकात की। उन्हें हर संभव मदद का आश्वासन दिया। उन्होंने बताया कि गीता को पूरी तरह से शिक्षित किया जाएगा। स्वरोजगार के लिए प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। इसके बाद उसकी रोजगार की उचित व्यवस्था की जाएगी। पीड़िता के मुआवजा की प्रक्रिया भी तेजी से चल रही है। बताया कि 2 लाख 12 हजार 500 रुपये पीड़िता के खाते में जमा हो गए हैं। मृतक जगदीश चंद्र की माता को भी मुआवजा जिलाधिकारी के माध्यम से दिया गया है। बाकि मुआवजे की धनराशि भी जल्द ही पीड़िता को दे दी जाएगी।

इसके बाद शिशु निकेतन का निरीक्षण कर बच्चों से मुलाकात कर समस्याएं सुनी। वहां शौचालय और कक्षों का निरीक्षण कर उचित निर्देश दिए। उन्होंने बच्चों के कक्षों की विशेष सफाई करने के निर्देश दिए। वहां तैनात स्वास्थ्य अधिकारियों को बच्चों के स्वास्थ्य परीक्षण करने के निर्देश दिए। इस मौके पर संजय जोशी आदि मौजूद रहे।

जल्द संचालित होगा उत्तररक्षा आश्रय गृह

लगभग एक साल पूर्व उद्घाटन के बाद भी 18 वर्ष से ऊपर की बालिग महिलाओं के लिए खोला गया उत्तररक्षा आश्रय गृह शुरु नहीं होने के मामले को राज्य महिला आयोग ने गंभीरता से लिया।राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष ज्योति साह मिश्रा ने उन्होंने कहा कि इस संबंध में मुख्यमंत्री से बातचीत की जाएगी। स्टाफ आदि की कमी के कारण शुरु नहीं हो पाया है। जल्द ही यह आश्रय गृह शुरु करवा दिया जाएगा।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें