Monday, January 30, 2023
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडभत्रोंजखान रानीखेत: राष्ट्रीय अप्रेंटिसशिप/शिक्षुता प्रशिक्षण योजना दिवस पर 'कक्षा से कार्यक्षेत्र ,कार्यक्षेत्र...

भत्रोंजखान रानीखेत: राष्ट्रीय अप्रेंटिसशिप/शिक्षुता प्रशिक्षण योजना दिवस पर ‘कक्षा से कार्यक्षेत्र ,कार्यक्षेत्र में कौशल’ पर एक दिवसीय कार्यशाला , कौशल उन्नयन से संवार सकते है युवा अपना भविष्य

भत्रोंजखान रानीखेत ::- राजकीय भत्रोंजखान महाविद्यालय रानीखेत में सोमवार कों प्रधानमंत्री कौशल भारत मिशन के अंर्तगत राष्ट्रीय एप्रेंटिसशिप दिवस /राष्ट्रीय शिक्षुता प्रशिक्षण योजना को लेकर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया ।

इस दौरान राजकीय महाविद्यालय भत्रोजखान की प्राचार्य प्रो.सीमा श्रीवास्तव एवं कैरियर काउंसलिंग प्रकोष्ठ प्रभारी एवं कौशल विकास नोडल अधिकारी डॉ.केतकी तारा कुमय्यां द्वारा छात्र / छात्राओं को प्रतिभा की ओर पोषित करने के उद्यमिता विकास कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी गई थी तथा किस तरह युवाओं की रोजगार क्षमताओं को बढ़ावा दिया जा सकता है।

प्राचार्य प्रो. सीमा द्वारा अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में शिक्षित युवजन को व्यावहारिक ज्ञान तथा कौशल विकास की समसामयिक आवश्यकता पर प्रकाश डाला गया। बताया कि छात्रगण एनएटीएस वेब पोर्टल के माध्यम से प्रशिक्षुता प्रशिक्षण कि लिये अपना पंजीकरण करवा सकते हैं तथा ‘प्रशिक्षुता मेलों’ के माध्यम से प्रशिक्षण के लिए अपना चयन करवा सकते है।

डॉ.केतकी तारा ने बताया की प्रशिक्षण की अवधि के दौरान प्रशिक्षुओं को 7000 से लेकर 9000 तक की वृत्तिका राशि दी जाती है। प्रशिक्षण के अंत में प्रशिक्षुओं को भारत सरकार द्वारा प्रवीणता प्रमाणपत्र दिया जाता है। इसमें ‘सीखो और कमाओ’ जैसा दुहरा लाभ भी है साथ में इसी योजना को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पीएमकेवीवाई) या मॉड्यूलर रोजगार योग्य कौशल (एमईएस) से जोड़ा भी जाएगा जो की भविष्य के लिए अत्यंत लाभकारी होगा।

कार्यक्रम के सफल सम्पादन में महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापको, कर्मचारीगणों एवं विद्यार्थियों समेत अन्य लोग उपस्थिति रहें ।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें