Tuesday, February 7, 2023
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडबागेश्वर : जिलाधिकारी ने उद्योग से संबंधित विभागों से समन्वय करते हुए...

बागेश्वर : जिलाधिकारी ने उद्योग से संबंधित विभागों से समन्वय करते हुए उद्योग बंधुओं की समस्याओं का त्वरित गति से निस्तारण करने के दिए निर्देश

बागेश्वर ::- जिलाधिकारी अनुराधा पाल की अध्यक्षता में जिला कार्यालय सभागार में जिला उद्योग मित्र समिति की बैठक आहूत की गई।

जिलाधिकारी ने महाप्रबंधक उद्योग को उद्योग से संबंधित विभागों से समन्वय करते हुए उद्योग बंधुओं की समस्याओं का त्वरित गति से निस्तारण करने के निर्देश दिए। बैठक में जनपद में पंजीकृत उद्यम इकाइयों एवं सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्यम नीति तथा विशेष एकीकृत औद्योगिक प्रोत्साहन नीति के अंतर्गत आने वाले उद्यमियों के ब्याज उपादान के दावों एवं अन्य मुद्दों पर चर्चा की गई।

इस दौरान जिलाधिकारी ने जनपद में उद्योगों के लिए मार्ग प्रशस्त करने हेतु संबंधित विभागों को निर्देशित किया कि मौजूदा उद्यमियों के सभी विभागीय कार्यों हेतु प्रपत्रों की एक चेक लिस्ट प्रदान की जाए जिससे लाभार्थी को पता चल सके कि किस कार्य के लिए किन किन दस्तावेजों की आवश्यकता है। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि आवेदनकर्ताओं एवं कार्यरत उद्यमियों को विशेष तौर पर सुझाव भी दिए जाएं कि वह किन-किन पात्रताओं को पूरा करता है तथा किन-किन योजनाओं के लिए पात्र है। इस दौरान उन्होंने जनपद में पंजीकृत सभी प्रकार के उद्यमियों के बारे में जीएम डीआईसी से जानकारी प्राप्त की तथा यह निर्देश दिए कि सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम नीति के तहत पात्र लोगों को नीति के बारे में बताया जाए एवं उन्हें सरकार की नीति के तहत विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलाए जाने के लिए विशेष प्रयास किए जाएं। उन्होंने कहा कि समय सीमा के तहत सभी प्रक्रियाओं को पूरा कर तथा योजनाओं के लिए चयनित सभी पात्र लोगों से संबंधित योजनाओं की पूरी जानकारी साझा की जाए तथा आवश्यकता पड़ने पर व्यक्तिगत तौर पर बात भी की जाए।

बैठक में उद्यमियों ने भी अपनी अपनी समस्याओं को रखा, जिस पर जिलाधिकारी ने संबंधित विभागों को सभी प्रक्रियाओं को पूर्ण करने के निर्देश दिए। तथा निर्देशित करते हुए कहा कि गैर जरूरी कारणों के उद्यमियों को कार्यालय के चक्कर ना कटवाएं। उनकी समस्याओं का समाधान समय सीमा के तहत ही करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने कहा कि छोटे-छोटे उद्यमियों को ऋण लेने के लिए किसी प्रकार की परेशानी न हो उन्हें शिविरों के माध्यम से लाभ पहुंचाने हेतु लीड बैंक मैनेजर व महाप्रबंधक उद्योग को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि यदि कोई व्यक्ति उद्योग के माध्यम से लोंगो का रोजगार दे रहा है, यदि उस कार्य में उसे समस्या आ रही है तो बैंक व संबंधित अधिकारी इसे गंभीरता से लें। जिलाधिकारी ने कहा कि यदि कोई आवेदन लंबित या रिजेक्ट है तो उसका कारण सुस्पष्ट होना चाहिए, इस पर महाप्रबंधक उद्योग को विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए।

बैठक में जिलाधिकारी ने मिनी औद्योगिक आस्थान गरूड में शेडों का आवंटन गाइडलाइन/नियमानुसार करने के निर्देश महाप्रबंधक को दिए। ताम्र ग्रोथ सेंटर हेतु उचित स्थान यथाशीघ्र चयनित करने के साथ ही अल्मोडा मैग्नेसाइट ने फैक्ट्री में उत्पादित सीसी ब्रिक्स, ब्लॉक्स /इण्टरलॉकिंक पेवर्स को जनपद एवं नजदीकी जनपदों के राजकीय निर्माण विभाग/परियोजना विकास प्रोजेक्ट में क्रय में वरीयता प्रदान किए जाने की मांग पर जिलाधिकारी ने इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट को क्षेत्र में जाकर परीक्षण करने के निर्देश दिए।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी संजय सिंह, जिला विकास अधिकारी संगीता आर्या, महाप्रबंधक उद्योग जीपी दुर्गापाल, लीड बैंक मैनेजर एनआर जौहरी, जिला पर्यटन अधिकारी कीर्ति आर्या समेत अध्यक्ष बागनाथ चैबर्स ऑफ कामर्स बागेश्वर नरेन्द्र खेतवाल, दलीप सिंह खेतवाल, सीमा देवी, नरेन्द्र कुमार, अनिल कार्की, जिला उद्यान अधिकारी आरके सिंह, मुख्य कृषि अधिकारी एसएस वर्मा,मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ.आर चन्द्रा, जिला समाज कल्याण अधिकारी हेम तिवारी सहित अन्य अधिकारी व उद्यमी मौजूद थे।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें