Wednesday, February 8, 2023
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडभारतीय जनता पार्टी जिला अल्मोड़ा के तीन दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग का...

भारतीय जनता पार्टी जिला अल्मोड़ा के तीन दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग का हुआ समापन

भारतीय जनता पार्टी जिला अल्मोड़ा के प्रशिक्षण वर्ग के तीसरे दिन प्रथम सत्र में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को वन विकास निगम के पूर्व अध्यक्ष विरेंद्र बिष्ट का मार्गदर्शन करते हुए कार्यक्रम की शुरुआत की।

कार्यक्रम का शुभारंभ वंदे मातरम से किया गया। सत्र की शुरुआत कर वीरेंद्र बिष्ट ने संगठन संरचना में हमारी भूमिका विषय पर अपने विचार रखें प्रशिक्षुओं के समक्ष अपनी बात रखते हुए विरेंद्र बिष्ट ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी आज विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी के रूप में उभर कर सामने आई है। 1951 से लेकर 1977 तक भारतीय जनसंघ के रूप में 1970 से 1980 तक जनता पार्टी में और 1980 से लेकर आज तक भारतीय जनता पार्टी के रूप में राष्ट्रवाद सुशासन और गरीब लक्ष्य विकास को लेकर हम काम करते रहे है हम सदैव कहते हैं कि हमारे गौरव यात्रा के मूल में त्रिशूली कार्य के नियम रही है हमारी प्रेरणा रही है राष्ट्र सर्वोपरि का विचार हमारा विचार है। हम पंचशील के सिद्धांत पर कार्य करने वाली पार्टी है। हमें काम करते समय हमारी कार्यपद्धती के कुछ मूल तत्व को समझना अति आवश्यक है। कोरोना पर उपाय के नाते अपने देश में वैज्ञानिकों ने दो वैक्सीन भी तैयार की और देश के अनेक स्थानों पर वैक्सीनेशन अभियान भी चल रहा है। आपसी संवाद के साथ-साथ आपके विचार विमर्श की पद्धति भी उतनी ही महत्व की होती है नव मतदाता से संपर्क सभी जाति बिरादरी में पार्टी को पहुंचाने का आग्रह एवं भाजपा सरकार की सभी उपलब्धियों को नीचे तक पहुंचाने का काम इत्यादि सारी बातें बहुत कार्य के माध्यम से ही हम कर पाएंगे इसे ध्यान में रखना होगा विचारों की स्पष्टता कार्यपद्धती पर अटूट श्रद्धा एवं संगठन संरचना के मूल बिंदु पर विश्वास रखकर ही हम सारे देश एक अजय संगठन का निर्माण एवं विस्तार कर सकते हैं।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मंत्री पुष्कर कॉलोनी भारत के मुख्य विचारधारा हमारे विचारधारा पर विचार रखते हुए कहा कि भारत के आजादी के बाद की राजनीति का वैचारिक अधिष्ठान मुख्यता पाश्चात्य रहा है। आजादी के पूर्व का गांधी विचार लोकमान्य तिलक एवं अरविंद के विचार जिनका अधिष्ठान भारतीय था। उन्हें पूरी तरह भुला देंगे यहां तक कि भारत माता की जय वंदे मातरम के उद्घोष भी भुला दिए गए कॉन्ग्रेस समाजवादी साम्यवादी इन तीनों विचारधाराओं ने देश को गर्त की ओर धकेलने का काम से अब राजनीति को पूंजीवाद एवं समाजवाद के समांतर 30 से मार गई खुश हुई इस खोज ने एकात्म मानववाद ही एक विकल्प के रूप में उभर रहा है भारत माता की जय वंदे मातरम आज भारतीय समाज के सामान्य उद्घोष बन चुके हैं चाहे राजनीतिक पार्टियां आज भी उनसे किनारा कर रही हैं लेकिन यह आमजन के मन में बस चुके हैं राजनीतिक रूप से सामने वादा बहुत कमजोर हो रहा है। भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा या नींबू सांस्कृतिक राष्ट्रवाद आर्थिक लोकतंत्र अंतोदय शिक्षा का भारतीय कारण तथा पंचमेश टाइम आज का विचार जा रहा है भारत के मुख्य विचारधारा बन गई।

उन्होंने भारत के वैश्विक परिदृश्य पर अपने विचार रखें उन्होंने कहा कि हाल के वर्षों में दुनिया के साथ भारत का जोड़ा मूलतः इसके आर्थिक विकास और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी क्या साधन राजनीतिक नेतृत्व के कारण संभव हुआ। वर्तमान भारतीय प्रशासन समझ गया है कि हमारे घरेलू उद्देश्यों को हासिल करने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ जुड़ा और कह सकता होगी इसी प्रकार समकालीन समय में भारत की सैनिक कूटनीति और आर्थिक शक्तियों के पारंपरिक विदेश नीति के दृष्टिकोण से आगे बढ़कर व्यापक वैश्विक प्रतिबद्धताओं की ओर अपना रुख किया था। भारत और अमेरिका के बीच रणनीतिक रक्षा सहयोग जॉर्ज डब्ल्यू बुश के कार्यकाल के बाद से विकसित होने शुरू हुए अव्यवस्था और भी गहरा और व्यापक हो गया है। भारत और अमेरिका के बीच 1 दशक से अधिक समय से व्यापार संबंध नियमित रूप से बढ़ रहे हैं और व्यापक और गहरे होते जा रहे हैं। भारत चीन संबंधों में भी परिवर्तन देखने को मिल रहा है। पिछले साल कालवान घाटी के संकट के बाद भारत चीन दीपक से संबंध में महत्वपूर्ण रणनीतिक बदलाव आया भारत सरकार ने लोकप्रिय मोबाइल एप्लीकेशन जैसे टिक टॉक से अरे डू यू सी ब्राउज़र विवो पब्जी जैसे 267 एप प्रतिबंध लगा दिया है। भारत हमेशा से आतंकवाद के सभी रूपों का विरोध करता रहा है भारत 90 के दशक के अंत से ही आतंकवाद पर अंकुश लगाने के लिए अंतरराष्ट्रीय प्रयास आरंभ कीजिए भारत में आतंक फैलाने के प्रमुख रूप से पाकिस्तान की भूमिका रही है। पाकिस्तान परोक्ष व परोक्ष रूप से जम्मू कश्मीर व देश के अन्य हिस्सों में अस्थिरता पैदा करने का काम करता रहा है। आतंकवाद पर मोदी सरकार ने नीति को स्पष्ट करते हुए कहा कि आतंकवाद और वार्ता एक काम नहीं कर सकते और आतंकवाद को समाप्त करने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक जैसी कई घटनाओं को नरेंद्र मोदी सरकार ने किया।

उन्होंने कहा कि अविश्वास के स्वैच्छिक दौर में भारत में जरूरतमंद देशों के प्रति मित्रता का हाथ बढ़ाया जैसा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई कहां ने कहा था भारत एक विश्व गुरु के रूप में अपनी स्थिति को पुनः प्राप्त कर रहा है जो वसुदेव कुटुंबकम के सिद्धांत पर आधारित है भारत ने पड़ोस और उसके आसपास की पहली नीति अधिनियम पूर्व नीति अधिनियम पश्चिमी थी आदि पर विशेष ध्यान देने के साथ सुरक्षित स्थिर और शांतिपूर्ण विश्व व्यवस्था स्थापित करने के लिए क्षेत्रीय और वैश्विक पहल की है।


प्रशिक्षण सत्र के दौरान वर्ग सर्वव्यवस्था प्रमुख प्रोफेसर एस एस पथनी, भाजपा जिला महामंत्री महेश नयाल, विनीत बिष्ट, जिला उपाध्यक्ष राजेन्द्र कैड़ा, महिपाल बिष्ट,घनश्याम भट्ट, प्रदेश का सदस्य रमेश बहुगुणा, अरविंद बिष्ट, लता बोरा, जिलामंत्री सुरेंद्र मेहता, त्रिलोक रावत, नरेंद्र प्रसाद आई. टी. सयोजक गोविंद मटेला, राहुल वोहरा, सौरभ वर्मा, मनोज जोशी समेत अन्य कार्यकर्त्ता मौजूद रहें।




सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें